12th के बाद क्या करें-छात्रों की समस्या दूर

छात्रों के लिए सही करियर चयन: 12th के बाद क्या करें?

आज की तेजी से बदलती दुनिया में, सीनियर सेकेंडरी पास करने के बाद छात्रों के लिए करियर चयन सबसे महत्वपूर्ण मोड़ बन जाता है। इस अवसर पर ढेरों कोर्सेज में से सर्वश्रेष्ठ कोर्स कैसे चुना जाए, यह एक बड़ा सवाल होता है। छात्र सोचते हैं कि उनके कैरियर के लिए क्या बेहतर ऑप्शन है और उन्हें अपने अच्छे भविष्य के लिए क्या करना चाहिए। इस समय बिना सोचे समझे किया गया एक गलत फैसला आपको जीवन भर पछताने के लिए मजबूर कर सकता है। इसलिए अपनी योग्यता, अच्छे जॉब के विकल्प, और अपना इंट्रेस्ट सभी बातों को ध्यान में रखते हुए ही अपने लिए सही विकल्प चुनना चाहिए।

इस आलेख में हमने देखा कि 12th के बाद छात्रों के लिए करियर चयन का महत्व क्या है और वे कौन-कौन से विकल्पों के सामना हैं। सही करियर का चयन करने के लिए योग्यता, रूचिकर्ता, और लक्ष्यों का मूल्यांकन करना महत्वपूर्ण है। छात्रों को चार्टेड अकाउंटेंट, फाइनेंस, बैंकिंग और एकाउंट्स क्षेत्र में अपना करियर बनाने के विकल्पों के बारे में जानकर अपने लक्ष्यों की प्राप्ति करने में मदद मिलेगी।

12वीं के बाद क्या करें, यह सवाल सभी छात्रों के मन में होता है, खासकर जब वे सीनियर सेकेंडरी पास हो जाते हैं। इस बारहवीं के बाद, सही करियर चयन करना महत्वपूर्ण हो जाता है, लेकिन यह कठिन भी हो सकता है। ढेरों कोर्सेज में से सर्वश्रेष्ठ कोर्स कैसे चुनें, इसमें छात्र कंफ्यूज हो जाते हैं। इस लेख में हम आपको कुछ सुझाव देंगे जो आपके लिए उपयुक्त हो सकते हैं।

यह आपके कैरियर के लिए एक महत्वपूर्ण पड़ाव है, और इसमें बिना सोचे समझे फैसला लेना आपको बड़े पछतावे में डाल सकता है। इसलिए अपनी योग्यता, अच्छे जॉब के विकल्प, और आपके इंट्रेस्ट को ध्यान में रखकर ही सही विकल्प चुनें।

A. छात्रों की समस्या

12th के बाद करियर के समाधान की तलाश में छात्रों को अक्सर समस्याएं आती हैं। इस समय कॉर्स चयन करना एक बड़ा और कठिन कार्य हो सकता है।

B. कैरियर चयन का महत्व

यह आपके भविष्य के लिए एक महत्वपूर्ण पड़ाव है, जिसमें आपको अपने रूचिकर्ता और क्षमताओं को ध्यान में रखकर सही कैरियर का चयन करना होता है।

12th के बाद विकल्प

A. साइंस के छात्रों के लिए

साइंस (PCM) के छात्र B.SC, B.Tech आदि कर सकते हैं तथा PCB के छात्र MBBS कर सकते हैं।

B. कॉमर्स के छात्रों के लिए

कॉमर्स के छात्रों के लिए CA, CS और B.COM में से चुनना ठीक रहेगा तो वही आर्ट्स के छात्रों के लिए BA, LLB, और BJMC उपयुक्त रहेगा।

कॉमर्स के छात्रों के लिए विकल्प

चार्टेड अकाउंटेंट कोर्स

CA कोर्स आज के सबसे प्रतिष्ठित कोर्सों में से एक है। इस कोर्स के पूरा होने के बाद, छात्र स्वतंत्रता से अपना कार्य कर सकते हैं या अच्छी कम्पनी में जॉब कर सकते हैं। यह कोर्स सस्ता और प्रतिष्ठान्वित है।

फाइनेंस, बैंकिंग और एकाउंट्स

कॉमर्स के छात्र 12th के बाद फाइनेंस, बैंकिंग और एकाउंट्स के क्षेत्र में अपना कैरियर बना सकते हैं। इसके लिए CA कोर्स करना एक अच्छा विकल्प हो सकता है।

विभिन्न कोर्सों का अध्ययन

विभिन्न कोर्सों को अच्छे से समझकर, उनकी विशेषताओं को ध्यान में रखकर कैरियर चयन करना चाहिए।
अपनी क्षमताओं, रूचियों और लक्ष्यों का मूल्यांकन करें और उसी के आधार पर अपना करियर चयन करें।विभिन्न क्षेत्रों में अनुभव प्राप्त करने से आपको सही दिशा मिल सकती है, जिससे आपका करियर में विकास हो सकता है।सही करियर चयन से ही आप अपने लक्ष्यों की प्राप्ति कर सकते हैं और जीवन में सफलता प्राप्त कर सकते हैं।

1. साइंस (PCM) छात्र:
  • B.SC, B.Tech आदि को चुन सकते हैं।
  • PCB छात्र MBBS कर सकते हैं।
12th के बाद क्या करें

2. कॉमर्स छात्र:

  • CA, CS, और B.COM में से विकल्प चुन सकते हैं।

3. आर्ट्स छात्र:

  • BA, LLB, और BJMC उपयुक्त हो सकते हैं।
  • 12th के बाद कॉमर्स छात्रों के लिए: कॉमर्स छात्र फाइनेंस, बैंकिंग, और एकाउंट्स के क्षेत्र में करियर बना सकते हैं। चार्टर्ड अकाउंटेंट कोर्स (CA) एक बहुत ही प्रतिष्ठान्वित विकल्प है, जिसमें आप 12वीं के बाद दाखिला ले सकते हैं।

CA कोर्स:

  • चार्टर्ड अकाउंटेंसी आज के सबसे प्रतिष्ठित कोर्सों में से एक है।
  • तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था और GST जैसे टैक्स रिफॉर्म के कारण CA की मांग में वृद्धि हुई है।
  • यह कोर्स सस्ता है और मेहनती छात्रों के लिए उपयुक्त है।
  • इसके पश्चात्, आप अच्छी कम्पनी में नौकरी कर सकते हैं या स्वतंत्र रूप से अपना कार्य कर सकते हैं।
  • इससे नौकरी और प्रतिष्ठा बढ़ती है।
12th के बाद क्या करें
12th के बाद क्या करें

डिजिटल मार्केटिंग कोर्स

डिजिटल मार्केटिंग कोर्स एक उन्नत और प्रभावी कौशल है जिसका उद्देश्य ऑनलाइन माध्यमों का उपयोग करके विभिन्न विपणी गतिविधियों को प्रमोट करना है। यह कोर्स छात्रों को विभिन्न डिजिटल प्लेटफ़ॉर्म्स और उनके उपयोग के लिए जानकारी प्रदान करता है, जिससे उन्हें डिजिटल मार्केटिंग क्षेत्र में कौशल विकसित करने का अवसर मिलता है।

कोर्स का विषय:

  1. SEO (Search Engine Optimization): इसमें विभिन्न तकनीकी योजनाओं का अध्ययन होता है जिससे आप वेबसाइट को सर्च इंजन में अच्छे स्थान पर लाने के लिए अनुकूलित कर सकते हैं।
  2. सोशल मीडिया मार्केटिंग: यह छात्रों को सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म्स के उपयोग का सीखाता है, जैसे कि फेसबुक, इंस्टाग्राम, ट्विटर, और लिंक्डइन, ताकि उन्हें उच्च प्रभावकारी पोस्ट और अच्छे अनुयायी प्राप्त हो सकें।
  3. ईमेल मार्केटिंग: इसमें विभिन्न तकनीकी और रणनीतिक पहलुओं का अध्ययन होता है जो ईमेल के माध्यम से ग्राहकों तक मैसेज पहुंचाने का कारगर तरीका होता है।
  4. गूगल एडवर्ड्स: यह छात्रों को ऑनलाइन विज्ञापन बनाने और प्रचारित करने का तरीका सिखाता है, जो गूगल पर सर्च करने वाले लोगों तक पहुंचता है।
  5. एनालिटिक्स: इसमें विभिन्न डेटा एनालिटिक्स टूल्स का उपयोग करके दी जाने वाली जानकारी का विश्लेषण होता है ताकि छात्र अपनी प्रदर्शन क्षमता को समझ सकें और उसे सुधार सकें।

करियर संबंधित संभावनाएँ:

  • डिजिटल मार्केटिंग मैनेजर
  • सोशल मीडिया स्पेशेलिस्ट
  • ईमेल मार्केटिंग एक्सपर्ट
  • सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (SEO) एक्सपर्ट
  • गूगल एडवर्ड्स स्पेशेलिस्ट
  • डिजिटल एनालिस्ट

कौर्स की अवधि और योग्यता: डिजिटल मार्केटिंग कोर्स की अवधि आमतौर पर 3-6 महीने होती है और 12वीं के बाद किसी भी विषय से संबंधित छात्र इसमें दाखिला ले सकते हैं। कोर्स फीस 50000-150000 तक की हे ,आप 50000 वाला कोर्स चुन कर भी , डिजिटल मार्केटिंग असपर्ट बन सकते हे , उसके साथ साथ आप अपना आगे की पड़ाई कर सकते हे ,
डिजिटल मार्केटिंग मे क्लास 2 घंटे की होती हे , हफ्ते मे तीन बार होती हे , और शनिवार और रविवार को भी आप क्लास जॉइन कर सकते हे ,अगर आपके पास टाइम की कमी हो तो , आप अनलाइन भी कर सकते हे , यह कोर्स उन लोगों के लिए उपयुक्त है जो ऑनलाइन मार्केटिंग में रुचि रखते हैं और डिजिटल माध्यमों का सही तरीके से उपयोग करके विपणी क्षेत्र में करियर बनाना चाहते हैं।

Leave a Comment

Translate »